देहरादूनबागेश्वर

देहरादून में बदला धीरेंद्र शास्त्री के दिव्य दरबार का ठिकाना, प्रशासन ने बताई ये वजह

 महाराणा प्रताप स्पोर्ट स्टेडियम में लगने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का दिव्य दरबार अप परेड ग्राउंड में लगाया जाएगा. सुरक्षा कारणों से चलते कार्यक्रम स्थल में परिवर्तन किया गया है.

देहरादून में लगने वाले बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री (Dhirendra Krishna Shastri) के दिव्य दरबार को लेकर बड़ी अपडेट सामने आई है. देहरादून में लगने वाला ये दिव्य दरबार महाराणा प्रताप स्पोर्ट स्टेडियम नहीं लगाया जाएगा. महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज में अनुमति नहीं मिलने और सुरक्षा कारणों के चलते आयोजन स्थल में बदलाव किया गया है. अब ये दरबार परेड ग्राउंड खेल मैदान में लगाया जाएगा जिसको लेकर निदेशालय से अनुमति मिल गई है.

सुरक्षा कारणों से शिफ्ट हुआ कार्यक्रम 
सुरक्षा कारणों के चलते बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री के दिव्या दरबार का कार्यक्रम महाराणा प्रताप स्पोर्ट स्टेडियम से हटकर देहरादून के परेड ग्राउंड में शिफ्ट किया गया. सूत्रों ने बताया कि प्रशासन ने धीरेंद्र शास्त्री की टीम को यह बताया कि महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स स्टेडियम में सुरक्षा कारणों के चलते कार्यक्रम करना ठीक नहीं होगा. जिसके बाद यह फैसला लिया गया कि देहरादून स्थित परेड ग्राउंड में यह कार्यक्रम किया जाएगा. कार्यक्रम को लेकर लगभग सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है. गौरतलब है कि कल यानी 4 नवंबर को शाम 4 बजे से बाबा बागेश्वर उर्फ धीरेंद्र शास्त्री अपना दिव्या दरबार लगाएंगे. जिसमें 3-4 लाख लोगों को पहुंचने की उम्मीद है. जिसके लिए देहरादून पुलिस ट्रैफिक प्लान बना रही है.

अन्य राज्यों से लोगों के पहुंचने का अनुमान 
सुरक्षा के लिहाज से कई पुलिस कर्मियों की तैनाती भी की गई है और उनकी ड्युटियान लगाई जा रही है. जिसमें उत्तराखंड के अलावा उत्तर प्रदेश के भी कई इलाकों से लोग इस कार्यक्रम में आने वाले हैं इस कार्यक्रम के आयोजक कनक यादव ने बताया कि, कार्यक्रम के लिए बाबा कल सुबह पहुंचेंगे यहां पर 4 नवंबर को शाम 4 बजे से रात को 11 बजे तक उनका दिव्या दरबार लगेगा उसके उपरांत अगले दिन 5 नवंबर को बाबा बद्रीनाथ दर्शन के लिए भी जाएंगे.

सीएम पुष्कर सिंह धामी हो सकते हैं शामिल 
फिलहाल कार्यक्रम स्थल बदलने से आयोजन को थोड़ी परेशानी हो रही है लेकिन लोगों की संख्या बढ़ाई जाने के बाद जल्द से जल्द यहां पर पंडाल व अन्य इंतजाम सुनिश्चित किया जा रहे हैं ताकि कार्यक्रम में किसी प्रकार की कोई भी कमी ना आए इस कार्यक्रम में कई वीआईपी लोगों के आने की भी संभावना है प्रदेश के मुख्यमंत्री भी इस कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की पत्नी गीता धामी ने बागेश्वर धाम के द्वारा निकाली गई कलश यात्रा में भी हिस्सा लिया अब कार्यक्रम स्टार बदलने से थोड़ी मोर परेशानियों के बाद कार्यक्रम स्थल पर काम शुरू हो चुका है.

Related Articles

Back to top button