उत्तराखंडदेहरादून

देहरादून में ज्वेलर्स शोरूम लूटने वाले गिरोह के तार बिहार से जुड़े होने की संभावना, सीएम ने DGP को किया तलब

देहरादून की राजपुर रोड पर ज्वेलर्स शोरूम में करोड़ों की लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था. पुलिस आरोपियों की धरपकड़ के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है.

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की व्यस्ततम राजपुर रोड पर स्थित एक नामी कंपनी के जेवरात शोरूम में घुसकर 15 करोड़ रुपये से अधिक के हीरे और सोने के आभूषण लूटने वाले गिरोह के तार बिहार से जुड़े होने की संभावना है. अपराध में प्रयुक्त वाहन पुलिस ने बरामद कर लिए हैं. ये वारदात बृहस्पतिवार (9 नवबंर) को उस समय हुई थी जब पुलिस राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर यहां मौजूद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की वीआइपी ड्यूटी में तैनात थी.

देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि बदमाश जेवरात शोरूम में दाखिल हुए और स्टाफ को बंदूक की नोंक पर बंधक बनाने के बाद आभूषण बैगों में भरकर मौके से फरार हो गए. उन्होंने बताया कि पांच बदमाशों में से तीन ने शोरूम के अंदर घुसकर लूट को अंजाम दिया जबकि उनके दो साथी बाहर पहरा देते रहे.

बिहार के एक गिरोह का हो सकता है काम

पुलिस अधिकारी ने बताया कि बदमाशों की तलाश के लिए चार पुलिस टीम का गठन किया गया है. उन्होंने बताया कि देहरादून के निकट स्थित सहसपुर से अपराध में प्रयुक्त दो मोटरसाइकिल और एक कार बरामद की गई है. उन्होंने कहा, “यह लूट बिहार के एक गिरोह का काम हो सकता है. पूर्व में पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और हरियाणा में भी इस कंपनी के जेवरात शोरूम में इसी तरह से लूटों को अंजाम दिया गया है.”

सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस

सिंह ने बताया कि अन्य राज्यों में कंपनी के जूवरात शोरूम में हुई इसी प्रकार की घटनाओं के सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण भी किया जा रहा है. इसके अलावा, देहरादून में घटनास्थल से फोरेंसिक विशेषज्ञों ने उंगलियों के निशान ले लिए हैं. सिंह ने कहा कि जल्द ही अपराधियों को पकड़ लिया जाएगा.

मुख्यमंत्री मामले को लेकर सख्त

वहीं, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पुलिस महानिदेशक और एसएसपी देहरादून को शुक्रवार को बुलाकर स्थिति की समीक्षा की और मामले का जल्द से जल्द खुलासा करने के सख्त निर्देश दिए हैं. सीएमओ के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराध में शामिल सभी लोगों और गिरोहों को जल्द से जल्द पकड़कर सलाखों के पीछे डाला जाए.

उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी. हमारा राज्य एक शांतिप्रिय राज्य है और यहां कानून व्यवस्था की स्थिति किसी भी हालत में बिगड़ने नहीं दी जाएगी.

Related Articles

Back to top button